​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

#कविता - हम अफवाह फैलाते है












हम झूठ को सच के नाम पर दिखाते है,
हम अफवाह फैलाते है,

हम मरने से पहले बन्दे का मार देते है, 
हम अफवाह फैलाते है,

हम समाज को जाति-पाती के नाम पर बांटते है,
हम अफवाह फैलाते है,

हम मरे को जिन्दा कर जाते है,
हम अफवाह फैलाते है,

हम सास-बहू की कहानी से खबर बनाते है,
हम अफवाह फैलाते है,

हम नेता को अभिनेता बनाते है,
हम अफवाह फैलाते है,

हम रोज अख़बार में और टीवी पर आते है,
हम अफवाह फैलाते है,

टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें