​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

#व्यंग्य - त्रेता युग में रामसेतु बनाने में भाजपा ने कांग्रेस की मदद से किया घोटाला - अरविंद केजरीवाल

केजरीवाल जी ने भारत के सभी राज्यों के अखबार में विज्ञापन देते हुए कहा कि त्रेता युग में जब रामसेतु का निर्माण हुआ था तब उसके निर्माण कार्य में बहुत धांधलियाँ हुई जिसके चलते जनता का बहुत सा पैसा भ्रष्टाचारी लोगों के पास चला गया। केजरीवाल जी ने रामसेतु निर्माण में धांधली के सबूत सामने रखने के लिए एक प्रेस कॅान्फ्रेंस भी बुलाई थी।

केजरीवाल जी के अनुसार यदि रामसेतू का निर्माण उनकी सरकार को सौंपा जाता तो सारा निर्माण आधे दाम में हो सकता था और बाकी का बचा पैसा अयोध्या में मुफ्त वाई-फाई लगाने के इस्तेमाल में लाया जा सकता था परंतु गलत मंत्रियों के चलते रामसेतु निर्माण का काम भाजपा के सांसदों की कंपनियों को दिया गया और उन्होंने राम नाम की लूट में खूब जमकर भ्रष्टाचार किया।

केजरीवाल जी के अनुसार रामसेतु के निर्माण में भाजापा के ठेकेदारों ने निम्न कोटि का माला इस्तेमाल करके बहुत ही कमजोर सेतु बनाया जो कलयुग आने से पहले ही टूट गया। यदि आम आदमी पार्टी की सरकार सेतु निर्माण का कार्य करती तो सेतु आज भी लंका जाने-आने के लिए प्रयोग में लाया जा सकता था। केजरीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के भी कुछ सांसद भाजपा के साथ इस घोटाले में शामिल हैं।

एक पत्रकार ने जब केजरीवाल से पूछा कि उनकी सरकार तो कलयुग में आई है तो त्रेता युग में सेतु निर्माण करना कैसे संभव है? इस सवाल पर केजरीवाल जी नाराज हो गए और उन्होंने पत्रकार को योगेन्द्र यादव का दलाल बता दिया, केजरीवाल ने कहा कि, "इस घोटाले में योगेन्द्र यादव का भी हाथ हैं क्योंकि योगेन्द्र यादव ने अपनी मीठी - मीठी बातों से बेजुबान जानवरों को भी रामसेतु के निर्माण कार्य में लगा दिया।"

केजरीवाल जी ने अपने  प्रेस कॅान्फ्रेंस को समाप्त करते हुए कहा कि जहाँ पर रामसेतु का निर्माण का कार्य हुआ है वो क्षेत्र सीआरजेड (कोस्टल रेग्युलेटरी जॅान) के तहत आता है और भाजपा सरकार ने काँग्रेस के साथ मिलकर सीआरजेड क्षेत्र में रामसेतु निर्माण किया इसके लिए मोदी जी को त्यागपत्र दे देना चाहिए।


यदि आपको लेख पसंद आया तो इसे अपने ट्विटर, फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और ब्लॉग को सब्सक्राइब करें। 

2 टिप्‍पणियां: