​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

क्या बिहार में पाए जातें हैं शराबी चूहे?

इनक्रेडिबल इण्डिया "लैंड ऑफ़ बिज़्ज़ारे ओप्पोरचुनिटीज़" इस स्लोगन को जीतनी बार पढ़ा जाए कम है। भारत ऋषि - मुनियों और चमत्कारों का देश है। यहाँ विशाल शरीर वाले गणेश की सवारी चूहा है और धन की लक्ष्मी का वाहन उल्लू है। बिहार में पाए जानेवाले शराबी चूहों ने इसी चमत्कार को आगे बढ़ाया है। 

कुछ दिन पहले हमने आपको  उत्तर प्रदेश में चोरी के इल्जाम में गिरफतार हुए कुत्ते की खबर  बयान की थी। उत्तर प्रदेश पुलिस से प्रेरणा लेते हुए बिहार पुलिस ने भी नौ लाख रुपये की जब्त शराब की बोलतों के लापता होने के केस में चूहों पर FIR दाखिल कर दिया है। 

जिस थाने के SHO के अंतर्गत इस शराब की चोरी हुई है। उसने FIR रिपोर्ट में तफतीस को सिलसिलेवार क्रम से बताते हुए कहा की चूहों ने थाने के पड़ोस के किराणा स्टोर से चौबीस पैकेट चीज़ चुरा लिया। वहीं एक पान की दुकान वाले ने अपने दुकान से बीकानेरी भुजिया और मसाला सिंगदाना चोरी होने का इल्जाम भी शराब पीनेवाले चूहा चोर गैंग पर डाल दिया है। 


अपने अधिकारी के सामने शराब चोर चूहों के उत्पात के बारे में बताते हुए SHO साहब ने कहा, "शराब पीने वाले चूहे, अपनी दहशत शहर के कई और हिस्सों में फैला रहें हैं। चूहे रात को शराब पीने के बाद रास्ते पर सोनेवालों से मारामारी करते हैं और रास्ते पर ठेला लगानेवालों से हफ्ता वसूली भी करते हैं। यहाँ तक की एक चूहे ने तो सरे आम एक चुहिया को भी छेड़ दिया।"

SHO साहब की बातों को सुनने के बाद, उनके अधिकारी ने हँसते हुए कहा, "शराब चोरी से होते हुए हाफत वसूली तक आपने चूहों को खाकी वर्दी धारी ना बताकर, पुलिस महकमे पर जो उपकार किया है उसके लिए पुलिस दल - बल हमेशा आपका अहसानमंद रहेगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें