​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

मालिक क्यों करना चाहता है, अपनी नौकरानी से विवाह?

मुंबई शहर में काम करनेवाले एक नवयुवक ने अपनी कामवाली बाई को उस समय विवाह का प्रस्ताव दे दिया जब उनकी नौकरानी ने झाड़ू मारने के बाद स्वयं ही पंखा चालू कर दिया।

नवयुवक से जब पत्रकार तोताराम ने इस संदर्भ में पूछताछ किया तो नवयुवक ने बताया कि वो पिछले सात साल से मुंबई में है और इस दरम्यान उसके घर में दो दर्जन से भी अधिक कामवाली आकर चली गई। लेकिन कभी किसी कामवाली बाई ने झाड़ूं मारने के बाद पंखा चालू नहीं किया। 

नवयुवक ने बताया, "रेशमा ने आठ महीने पहले घर पर काम करना शुरू किया और रश्मी के काम पर आने के बाद मुझे कभी भी सोते समय पँखा बंद होने के बाद चालू करने के लिए आवाज नहीं देना पड़ा। यहाँ तक की रेशमा ने कभी बिस्तर साफ करने के लिए मुझे बिस्तर से नहीं उठाया।"

नवयुवक का मानना है कि आज के समय में जहाँ आदर्श पत्नी मिलना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है, ऐसे समय में वो रेशमा से विवाह करके अपने जीवन को कृतार्थ करना चाहता है।  और साथ ही साथ अपने महीने के खर्च में से बाई के खर्च को भी बचाना चाहता है। 

पत्रकार तोताराम ने जब रेशमा से इस मुद्दे पर विचार मांगा तो रेशमा ने शरमाकर कुछ भी कहने से मना कर दिया।



​पुरानीबस्ती पर प्रकाशित सभी ख़बरें सिर्फ अफवाह हैं, किसी भी कुत्ते और बिल्ली से इसका संबंध मात्र एक संयोग माना जाएगा। इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है। इसे लिखते समय किसी भी उड़ते हुए पंक्षी को बीट करने से नहीं रोका गया है। यह मजाक है और किसी को आहत करना इसका मकसद नहीं है। यदि आप यहाँ प्रकाशित किसी लेख/व्यंग्य/ख़बर/कविता से आहत होते हैं तो इसे अपने ट्विटर & फेसबुक अकाउंट पर शेयर करें और अन्य लोगों को भी आहत होने का मौका दें।

टिप्पणियाँ